जानिए क्या होते हैं सोलर पैनल और उनके लाभ

सोलर पैनल सोलर एनर्जी का उपयोग करके हाई एफिशिएंसी से पावर प्रोडूस करने में सक्षम होते हैं

सोलर एनर्जी पूरी दुनिया में एनर्जी का सबसे बड़ा नेचुरल सोर्स है जो हमें भरपूर मात्रा में मिलता है। आज के समय में विज्ञान का एक अविश्वसनीय आविष्कार सोलर पैनल है जो सोलर एनर्जी को बड़ी आसानी से इलेक्ट्रिकल एनर्जी में कन्वर्ट करने में सक्षम होते हैं। सोलर पैनल के प्रयोग से पर्यावरण को क्लीन और सुरक्षित रखा जा सकता है। इस आर्टिकल में बात करेंगे सोलर पैनलों के बेनिफिट्स के बारे में और जानेंगे यह किस काम आते हैं और इनसे कैसे उपयोग में लेकर आप भी अपनी बिजली की ज़रूरतों को पूरा कर सकते हैं।

अब जानते हैं सोलर पैनलों के फीचर्स और इनके लाभ के बारे में

1. BIS सर्टिफिकेशन

सोलर पैनल क्या होते हैं और उनके लाभ जानिए
Source: Adani Solar

कोई भी सोलर पैनल भारतीय स्टैंडर्ड्स ब्यूरो (BIS) द्वारा सर्टिफाइड होता है जो डिवाइस और ब्रांड की क्वालिटी को रिफ्लेक्ट करता है। यह प्रोडक्ट की रिलायबिलिटी और सेफ्टी का आश्वासन भी ऑफर करता है। सोलर पैनल खरीदते समय इस जानकारी को जान लेना आवश्यक है। यह लिस्ट भारत सरकार द्वारा जारी की जाती है और मॉडल और निर्माताओं की एप्रूव्ड लिस्ट के लिए है। इसमें सरकार द्वारा सभी सोलर कंपनियों के इक्विपमेंट का फिजिकल इंस्पेक्शन शामिल है।

2. सोलर पैनल पर वार्रन्टी

एक अच्छा और प्रतिष्ठित सोलर मनुफक्टोरे ब्रांड कंस्यूमर को उनके सोलर पैनल के लिए वारंटी भी ऑफर करता है। यह वारंटी प्रोड की रिलायबिलिटी को प्रदर्शित करती है। सोलर ब्रांड आमतौर पर दो प्रकार की वारंटी प्रदान करते हैं:

प्रोडक्ट वारंटी

यह सोलर पैनलों पर ऑफर की जाने वाली पहली वारंटी है। सोलर पैनल में बस बार एक दूसरे से जुड़े होते हैं। अगर इन पैनलों में कोई भी सर्किट ख़राब होता है, तो पूरा सोलर पैनल काम नहीं करता है। अगर कंपनी की शर्तों के अनुसार सोलर पैनल ख़राब पाया जाता है तो वे कंस्यूमर से बिना पैसे लिए उसे बदल देते हैं। ज्यादातर सोलर ब्रांड अपने सोलर पैनलों पर 5 से 15 वर्ष तक की प्रोडक्ट वारंटी ऑफर करते हैं।

परफॉर्मेंस वारंटी

इस वारंटी के तहत हर साल सोलर पैनल की बिजली प्रोडक्शन कैपेसिटी में थोड़ी कमी आती है जो कि मिनिमम है। सोलर पैनल लगभग 90% कैपेसिटी के साथ लगभग 2 सालों तक काम करते हैं और फिर 25 वर्षों के बाद 80% एफिशिएंसी के साथ बिजली का प्रोडक्शन करते हैं। अगर सोलर पैनल ज्यादा तेजी से अपनी कैपेसिटी लूज़ करते हैं तो सोलर मैन्युफैक्चरर द्वारा उनमें रिपेयर किया जाता है। ज्यादातर सोलर कंपनियां 25 से 30 वर्ष तक की परफॉरमें वारंटी ऑफर करती हैं।

3. सोलर मैन्युफैक्चरर ब्रांड वैल्यू

किसी भी ब्रांड के सोलर पैनल खरीदने से पहले कंस्यूमर के लिए कंपनी की ब्रांड वैल्यू जानना जरूरी है। रिलायबिलिटी सोलर कंपनियों पर उनके प्रोडक्ट्स के लिए भरोसा किया जा सकता है। अगर भविष्य में आपके सोलर पैनलों में कोई खराबी आती है तो पॉपुलर सोलर ब्रांड कंपनियां तुरंत अपने उपकरणों को ठीक कर लेती हैं। केवल ट्रस्टेड ब्रांड ही अपने सोलर पैनलों के लिए वारंटी ऑफर कर सकते हैं क्योंकि वे सोलर पैनल यूजर के साथ लॉन्ग टर्म एसोसिएशन के लिए पॉपुलर हैं।

4. सोलर पैनल के टाइप

सोलर पैनल क्या होते हैं और उनके लाभ जानिए
Source: Blue Sky Electric

भारत में मुख्य रूप से तीन टाइप के सोलर पैनल पॉपुलर हैं जिनका उपयोग आप अपने सोलर सिस्टम में कर सकते हैं

पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल

ये कन्वेंशनल सोलर पैनल हैं जिन्हें उनके नीले रंग से आसानी से पहचाना जा सकता है। ये सोलर पैनल सबसे ज्यादा उपयोग किए जाते हैं और इनकी कीमत काफी कम है। ऐसे सोलर पैनल पर सरकार द्वारा सब्सिडी भी ऑफर की जाती है।

मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल

इन सोलर पैनलों की एफिशिएंसी ज्यादा होती है और ये आमतौर पर काले या गहरे नीले रंग के होते हैं। इन सोलर पैनलों की कीमत पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनलों से ज्यादा है। ऐसे सोलर पैनल का उपयोग करके आप एक मजबूत सोलर पैनल सिस्टम बना सकते हैं।

बाइफेशियल सोलर पैनल

ये सबसे आधुनिक सोलर पैनल हैं। ये सोलर पैनल सामने से प्राप्त डायरेक्ट सनलाइट और रेफ्लेक्टेड लाइट (अल्बेडो लाइट्स) दोनों से बिजली प्रोडक्शन करने में सक्षम हैं। इन सोलर पैनलों की एफिशिएंसी ज्यादा होती है लेकिन इनकी कीमत ज्यादा होती है। ऐसे सोलर पैनलों का उपयोग अडवानासद सोलर सिस्टम में किया जा सकता है।

जानिए भारत के टॉप सोलर ब्रांड

Luminous-2kw-solar-panel
Source: Apollo Universe
  • टाटा पावर सोलर: टाटा के सोलर पैनल की एफिशिएंसी 18% से 22% तक होती है। यह भारत के लीडिंग सोलर मनुफैक्रिंग में से एक है जो एक्सीलेंट परफॉरमेंस के लिए जाना जाता है। टाटा अपने सोलर प्रोडक्ट को दुनिया भर के कई देशों में एक्सपोर् करता है।
  • वारी एनर्जी: वारी एनर्जी एक प्रतिष्ठित ब्रांड वैल्यू के साथ भारत की टॉप सोलर कंपनियों में से एक है। उनके सोलर पैनलों की कीमत काफी कॉम्पिटिटिव होती है और वे पॉलीक्रिस्टलाइन, मोनोक्रिस्टलाइन और बाइफेशियल, सभी टाइप के सोलर पैनल बनाती है।
  • अडानी सोलर: अदानी सोलर के पैनल हाई एफिशिएंसी ऑफर करते हैं। यह सोलर पैनल का उपयोग करके आप एक अच्छा और स्ट्रांग सोलर सिस्टम इंस्टॉल कर सकते हैं। अडानी सोलर के सोलर इक्विपमेंट का उपयोग दुनिया भर के कई देशों में किया जाता है।
  • विक्रम सोलर: विक्रम सोलर पॉलीक्रिस्टलाइन और मोनोक्रिस्टलाइन दोनों सोलर पैनलों को मनुफैक्टर करता है जो अपनी हाई एफिशिएंसी के लिए जाने जाते हैं। इस कंपनी के सोलर पैनल दुनिया भर के कई देशों में एक्सपोर्ट भी किए जाते हैं। विक्रम सोलर अपने सोलर इक्विपमेंट की परफॉरमेंस कैपेबिलिटीज के लिए पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है।
  • ल्यूमिनस: ल्यूमिनस इलेक्ट्रिकल और सोलर इक्विपमेंट बनाने वाली एक पॉपुलर कंपनी है। वे पॉलीक्रिस्टलाइन और मोनोक्रिस्टलाइन दोनों सोलर पैनल का प्रोडक्शन करते हैं।

यह भी देखिए: हाइड्रोजन सोलर पैनल क्या होते हैं और उनसे कितनी बिजली पैदा होती है, जानिए

1 thought on “जानिए क्या होते हैं सोलर पैनल और उनके लाभ”

Leave a comment