अब अपने घर पर लगाएं बिना बैटरी का सबसे सस्ता सोलर सिस्टम सब्सिडी के साथ

सबसे किफायती सोलर सिस्टम वो भी बिना बैटरी के लगाएं और लाभ उठाएं सरकारी सब्सिडी का

पर्यावरण को नुकसान पहुँचाए बिना हमारी बिजली की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए रिन्यूएबल एनर्जी का तेज़ी से बढ़ रहा है और आपके लिए काफी लाभकारी हो सकता है। सोलर एनर्जी को बिजली में परिवर्तित करके सोलर पैनल इसमें काफी एहम रोल निभाते हैं। इन पैनलों का उपयोग करके आप मुफ्त में बिजली पैदा कर सकते हैं और अपने बिजली के बिल को कम कर सकते हैं।

इसके अलावा सरकार की नई पीएम सूर्य घर मुफ़्त बिजली योजना के तहत लोगों को सोलर पैनल लगाने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए सब्सिडी प्रदान की जाती है। इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कैसे आप भी बिना बैटरी का उपयोग किए एक बढ़िया सोलर पैनल सिस्टम इंस्टॉल कर सकते हैं और लाभ उठा सकते हैं मुफ्त बिजली और सब्सिडी योजना का।

एक सोलर सिस्टम लगाने से पहले आपको सोलर सिस्टम के सही साइज का चयन करने के लिए अपने घर के बिजली के लोड के एस्टीमेट की जानकारी होनी चाहिए। यह जानकारी आपके ग्रिड बिजली बिल और मीटर रीडिंग से प्राप्त की जा सकती है। सही सिस्टम आपकी एनर्जी आवश्यकताओं को एफ्फिसेंटली पूरा करने में मदद करेगा।

बिना बैटरी वाले सोलर सिस्टम कैसे काम करते हैं ?

अब अपने घर पर लगाएं बिना बैटरी का सबसे किफायती सोलर सिस्टम सब्सिडी के साथ, डिटेल्स जानिए
Source: Waaree

सोलर सिस्टम के तीन मुख्य प्रकार हैं – ऑन-ग्रिड, ऑफ़-ग्रिड और हाइब्रिड। ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम एनर्जी को स्टोर करने के लिए बैटरी का उपयोग करते हैं जिससे आपके बिजली बिल कम हो जाते हैं वहीँ हाइब्रिड सिस्टम ग्रिड और बैटरी दोनों पावर का उपयोग करते हैं। एक ऑन-ग्रिड सोलर सिस्टम को किसी बैटरी की आवश्यकता नहीं होती है। बिना बैटरी वाले सोलर सिस्टम को दो तरीकों से सेट किया जा सकता है – ऑन-ग्रिड सोलर सिस्टम और ट्रांसफॉर्मरलेस इनवर्टर।

ऑन-ग्रिड सोलर सिस्टम में सोलर पैनल डेलाइट में बिजली पैदा करते हैं और इसे सीधे बिजली ग्रिड में भेजते हैं। जब आपकी बिजली की ज़रूरत कम होती है तो आप ग्रिड से बिजली ले सकते हैं। ट्रांसफॉर्मरलेस इनवर्टर टेक्नोलॉजी सोलर पैनल द्वारा जनरेट किए गए डायरेक्ट करंट को अल्टेरनेटिंग करंट में बदल देती है जिसका उपयोग आपके घरेलू उपकरणों द्वारा किया जा सकता है। कोई भी एडिशनल बिजली ग्रिड में वापस भेज दी जाती है। सोलर पैनल द्वारा उत्पन्न बिजली को DC पावर से AC में बदलने के लिए सोलर इन्वर्टर का उपयोग किया जाता है। सोलर इन्वर्टर और सोलर पैनल के बीच एक सोलर चार्ज कंट्रोलर इनस्टॉल किया जाता है।

2kW मोनो PERC सोलर पैनल की कीमत

tata-6kw-solar-system

अगर आप हाई-टेक सोलर पैनल खरीदना चाहते हैं तो आप मोनो PERC टेक्नोलॉजी वाले सोलर पैनल चुन सकते हैं। इसके अलावा आप बाइफेसियल सोलर पैनल का ऑप्शन चुन सकते हैं जो दोनों तरफ काम करते हैं और उनकी एफिशिएंसी ज्यादा होती है।

सोलर पैनल सिस्टम की कॉस्ट पैनल की कैपेसिटी, तकनीक और ब्रांड जैसे कई फैक्टर पर निर्भर करती है। आप 2 किलोवाट का मोनो PERC सोलर पैनल लगभग ₹66,000 में प्राप्त कर सकते हैं जबकि बाइफेसियल सोलर पैनल की कीमत लगभग ₹76,000 हो सकती है। इस प्रकार से एक 2 किलोवाट ऑन-ग्रिड सोलर सिस्टम की एस्टिमेटेड कॉस्ट ₹80,000 से ₹1,00,000 तक हो सकती है।

यह भी देखिए:अब लगाएं सबसे बढ़िया सोलर सिस्टम और चलाएं अपने घर के A/C व कूलर, कीमत भी रहेगी किफायती

1 thought on “अब अपने घर पर लगाएं बिना बैटरी का सबसे सस्ता सोलर सिस्टम सब्सिडी के साथ”

Leave a comment