इस एडवांस्ड सोलर सिस्टम से चलाएं AC वो भी बिना बैटरी के, जानिए पूरी डिटेल्स व कीमत

एडवांस्ड सोलर सिस्टम से चलाएं AC वो भी बिना बैटरी के

अगर आप बढ़ते बिजली बिल से परेशान हैं और ईको-फ्रेंडली एनर्जी सोर्स का उपयोग करके अपनी जरूरतों को पूरा करना चाहते हैं, तो आप सोलर एनर्जी का उपयोग करने पर विचार कर सकते हैं। इस आर्टिकल में हम बात करेंगे एक एडवांस्ड 1.2 किलोवाट सोलर सिस्टम के बारे में जिससे आप अपने घर का AC भी चला सकते हैं बिना बैटरी के इस्तेमाल किए।

1kW का एडवांस सोलर सिस्टम

इस एडवांस्ड सोलर सिस्टम से चलाएं AC वो भी बिना बैटरी के, पूरी डिटेल्स जानिए
Source: Loom Solar

1.2 किलोवाट का एडवांस्ड सोलर सिस्टम बाजार में उपलब्ध रेगुलर इनवर्टर से बिल्कुल अलग है। इसकी एडवांस्ड टेक्नोलॉजी इतनी पावरफुल है कि यह एयर कंडीशनर, रेफ्रिजरेटर, कूलर, फैन, वॉशिंग मशीन और मोटर जैसे होम एप्लायंस को बिना किसी परेशानी के चला सकती है। यह बिना बैटरी के या एक बैटरी से काम कर सकता है। यह सिस्टम ट्रेडिशनल बैटरियों की तुलना में कहीं ज्यादा एडवांस्ड है। इसे 30 साल तक चलने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जिससे 20 साल तक हैस्ल-फ्री मेंटेनेंस सुनिश्चित होता है।

1.2 किलोवाट सोलर सिस्टम के अडवांटेज:

आप सिस्टम को बैटरी के साथ या उसके बिना ऑपरेट कर सकते हैं। यह लिथियम, लेड-एसिड या SMF बैटरी के साथ कम्पैटिबल है। यह इन्वर्टर रिमोट मॉनिटरिंग क्षमताओं के साथ आता है, जिससे आप कोलकाता में बैठकर मुंबई में इन्सटाल्ड सिस्टम की मॉनिटर कर सकते हैं।

बिना किसी मेंटेनेंस के इन्वर्टर की मिनिमम लाइफसपं 20 वर्ष है। 1 किलोवाट सोलर सिस्टम से आप प्रति माह लगभग 4 से 5 यूनिट बिजली पैदा कर सकते हैं, जिसके कारण आपके बिजली बिल में काफी सेविंग होगी। सोलर सिस्टम की मेंटेनेंस कॉस्ट काफी कम है। सोलर पैनलों का लाइफसपं लंबा होता है और उन्हें मिनिमल मेंटेनेंस की आवश्यकता होती है।

भारत सरकार और कई राज्य सरकारें सोलर सिस्टम इंस्टॉल करने, कॉस्ट कम करने और इन्वेस्टमेंट पर क्विक रिटर्न ऑफर करने के लिए सब्सिडी और अन्य इंसेंटिव ऑफर करती हैं। यह सिस्टम उन लोगों के लिए उपयुक्त है जिनके घरों में थोड़े समय के लिए हैवी लोड रहता है और वे बार-बार बैटरी बदलने की परेशानी से बचना चाहते हैं। यह उन्हें मौसम की स्थिति की परवाह किए बिना, एक ही बैटरी से पूरे घर का लोड चलाने की सुविधा प्रदान करता है।

1KVA MPPT सोलर इन्वर्टर

इस एडवांस्ड सोलर सिस्टम से चलाएं AC वो भी बिना बैटरी के, पूरी डिटेल्स जानिए
Source: Havells India

यह एक MPPT सोलर इन्वर्टर है जिसे सोलर पैनलों से बिजली को एसी बिजली में कन्वर्ट करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जो घरों और बिज़नेस में उपयोग के लिए सुइटेबल है। यह इन्वर्टर 1 किलोवाट बिजली का प्रोडूस कर सकता है, जो एक छोटे घर या बिज़नेस के लिए पर्याप्त है। यह आपको मैक्सिमम 1 किलोवाट सोलर पैनल कनेक्ट करने की अनुमति देता है, जिससे आप 800 वाट तक का लोड आसानी से हैंडल कर सकते हैं। इस इन्वर्टर के साथ बैटरी लगाना मैंडेटरी है, जिससे यह और भी उपयोगी हो जाता है।

इस इन्वर्टर की एक खास बात यह है कि आप इससे केवल 24 वोल्ट का पैनल ही कनेक्ट कर सकते हैं। अगर आपको ज्यादा पावर की आवश्यकता है, तो आप सीरीज में ज्यादा पैनल जोड़ सकते हैं। यह इन्वर्टर न केवल अपनी टेक्निकल केपेबिलिटी के लिए बल्कि अपने ग्राफिकल डिस्प्ले के लिए भी जाना जाता है, जो आपको कई इम्पोर्टेन्ट जानकारी ऑफर करता है। इस इन्वर्टर से आप अपने घर में एयर कंडीशनर समेत कई बड़े एप्लायंस भी चला सकते हैं।

इस इन्वर्टर की SPV रेंज 300 वोल्ट और पावर फैक्टर 1 है, जो इसकी एनर्जी एफिशिएंसी को डेमोंस्ट्रेट करता है। आमतौर पर, 1 किलोवाट का इन्वर्टर 800 वॉट का लोड हैंडल कर सकता है, लेकिन यह इन्वर्टर 1.2 किलोवाट का होने के कारण 1200 वॉट तक का लोड हैंडल कर सकता है।

AC और DC कम्पेटिबिलिटी:

इस एडवांस्ड सोलर सिस्टम से चलाएं AC वो भी बिना बैटरी के, पूरी डिटेल्स जानिए
Source: Zun Solar

यह सिस्टम AC आउटपुट और इनपुट के अलग-अलग ग्रेड की अनुमति देता है, जिससे आपको इसे ग्रिड से कनेक्ट रखने या सीधे सोलर पैनलों से कनेक्ट करने की सुविधा मिलती है। यह सीधे सोलर पैनल इंस्टॉल करने के लिए एक सॉकेट के साथ आता है, जहां आप सोलर प्लग और सोलर माइनर जोड़ सकते हैं। आप इस पर 24, 48 या इससे भी ज्यादा 48 वोल्ट के पैनल लगा सकते हैं।

नेक्सस 3 बाइफेशियल सोलर पैनल:

Nexus3 बाइफेशियल पैनल 580 वॉट की हाई एनर्जी कैपेसिटी के साथ आते हैं, जो उन्हें बाज़ार में उपलब्ध ज्यादातर सोलर पैनलों से ज्यादा पावरफुल बनाता है। ये पैनल एडवांस्ड टॉपकॉन टेक्नोलॉजी से लैस हैं, जो कम रोशनी की स्थिति में भी एनर्जी जनरेशन को मक्सिमाइज़ करता है। इस टेक्नोलॉजी का मुख्य बेनिफिट यह है कि यह पैनलों को बादल वाले दिनों में या सुबह और शाम के समय भी एनर्जी जनरेट करने में सक्षम बनाता है जब सूरज की रोशनी कम उपलब्ध होती है।

पावर आउटपुट और AC लोड कैपेसिटी:

जब आप चार Nexus3 बाइफेसियल पैनलों को श्रृंखला में जोड़ते हैं, तो आप 2200 वाट तक बिजली जनरेट कर सकते हैं। इसके कारण प्रतिदिन लगभग 10 यूनिट बिजली का उत्पादन होता है, जो एक घरेलू उपभोक्ता के लिए महत्वपूर्ण है। ऐसी एनर्जी जनरेशन कैपेसिटी आपको अपने घर में बड़े एप्लायंस चलाने की अनुमति देती है, जैसे 1 टन से 1.5 टन तक की क्षमता वाले सौर एयर कंडीशनर। Nexus3 बाइफेसियल पैनल सिस्टम बैटरी के साथ भी काम करता है। आप लेड-एसिड या लिथियम बैटरी के बीच चयन कर सकते हैं, जिससे आपको अपनी एनर्जी नीड के अनुसार बैटरी का चयन करने के लिए एडेड फ्लेक्सिबिलिटी मिलता है।

हाइब्रिड सिस्टम कैपेसिटी:

हाइब्रिड सिस्टम सोलर एनर्जी और ग्रिड एनर्जी के बीच स्मार्ट स्विचिंग की सुविधा प्रदान करता है। उदाहरण के लिए, अगर आपके घर में 800 वॉट का लोड है और सोलर पैनल केवल 200 वॉट एनर्जी पैदा कर रहे हैं, तो हाइब्रिड सिस्टम ग्रिड से शेष 600 वॉट की आवश्यकता को पूरा करेगा। इससे एनर्जी कंसम्पशन में महत्वपूर्ण बचत होती है। हाइब्रिड इन्वर्टर आपको एनर्जी सोर्स के बीच सिलेक्शन करने की फैसिलिटी देता है। आप सोलर एनर्जी को प्राइमरी सोर्स के रूप में प्राइमरी दे सकते हैं, उसके बाद बैटरी और फिर ग्रिड को। इससे आपको अपनी एनर्जी कंसम्पशन को ज्यादा एफिशिएंसी से मैनेज करने में मदद मिलती है।

एडवांस्ड सोलर सिस्टम के साथ WiFi कनेक्टिविटी

seci-invites-bids-for-12-gw-ists-connected-project-storage
Source: ET

यह सिस्टम WiFi फैसिलिटी के साथ आता है, जिससे कंस्यूमर अपने स्मार्टफोन या कंप्यूटर के माध्यम से इन्वर्टर की सेटिंग्स को आसानी से कंट्रोल और मॉनिटर कर सकते हैं। यह सुविधा कंस्यूमर को घर या ऑफिस में अपने एनर्जी यूसेज की मॉनिटर और कंट्रोल करने में मदद करती है, जिससे एनर्जी की सेविंग होती है।

3-वर्ष की वारंटी और 15-वर्षीय स्क्रैप वैल्यू

इस बैटरी की एक खास बात यह है कि यह 15 साल की वारंटी के साथ आती है, जिसमें पहले 3 साल के अंदर किसी भी खराबी को मुफ्त में बदला जाता है। अगले 12 वर्षों में, अगर बैटरी खराब हो जाती है, तो कंस्यूमर को नई बैटरी के लिए MRP पर 50% का डिस्काउंट मिलता है। इस बैटरी की कैपेसिटी 1280 वोल्ट है, जो 1200 वॉट तक का लोड हैंडल करने में सक्षम है। इस बैटरी में उपयोग की जाने वाली हाई कैपेसिटी वाले सेल हाई एफिशिएंसी ऑफर करती हैं, जिससे यह लेड-एसिड बैटरियों की तुलना में ज्यादा एनर्जी-एफ्फिसिएंट बन जाती है।

इस बैटरी के उपयोग से एनर्जी एफिशिएंसी में सुधार होता है और बिजली बिल में महत्वपूर्ण बचत हो सकती है। इससे एनर्जी की कंसम्पशन कम हो जाती है और बिजली बिल में 60-70% तक की कमी आ सकती है, जिससे लंबी अवधि में इसकी कॉस्ट वसूल करना आसान हो जाता है। इसकी एनर्जी-सेविंग कैपेसिटी को देखते हुए इस बैटरी की कीमत बहुत उचित है।

यह भी देखिए: अब आगई आपकी इ-रिक्शा और व्हीकल के लिए सबसे सस्ती व पावरफुल बैटरी, देगी 150Km से अधिक रेंज

2 thoughts on “इस एडवांस्ड सोलर सिस्टम से चलाएं AC वो भी बिना बैटरी के, जानिए पूरी डिटेल्स व कीमत”

Leave a comment