ग्रीनको ग्रुप की ArcelorMittal के साथ साझेदारी से बनेगा 975MW का सोलर कॉम्प्लेक्स

ग्रीनको ग्रुप बनाएगा 975 MW का सोलर कॉम्प्लेक्स

ग्रीनको एक हैदराबाद बेस्ड कंपनी है जो भारत की लीडिंग रिन्यूएबल एनर्जी कंपनियों में से एक है जो फॉसिल फ्यूल की जगह सस्टेनेबल और सस्ती एनर्जी प्रोवाइड करने के लिए जानी जाती है। इस कंपनी की टोटल इंस्टॉल्ड कैपेसिटी 7.5 GWdc है जो भारत के 15 राज्यों में फैली हुई है। मंगलवार को ग्रीनको ने भारत में 975 मेगावाट चौबीसों घंटे रिन्यूएबल एनर्जी काम्प्लेक्स बनाने के लिए स्टील और खनन दिग्गज आर्सेलर मित्तल SA के साथ अपने कोलैबोरेशन की अनाउंसमेंट करी है।

ग्रीनको ग्रुप रिन्यूएबल एनर्जी को रियल-टाइम कंट्रोलऔर डिस्पैचबल मध्यम माध्यम में बदलने के लिए काम करती है। इस कंपनी ने आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश और कर्नाटक में इंटीग्रेटेड रिन्यूएबल एनर्जी स्टोरेज प्रोजेक्ट शुरू करी हैं। ग्रीनको भारतीय एनर्जी मार्केट के डिजिटलीकरण, डीकार्बोनाइजेशन और डेन्ट्रलाइज़ेशन में एक लीडिंग नाम है। इसका लक्ष्य देश की लॉन्ग-टर्म सिक्योरिटी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए यूटिलिटी-स्केल, क्लीन और सस्ती एनर्जी प्रोवाइड करना है।

ArcelorMittal के साथ पार्टनरशिप

ग्रीनको ग्रुप की ArcelorMittal के साथ पार्टनरशिप से बनेगा 975 MW का सोलर कॉम्प्लेक्स
Source: WSI Africa

इस नई पार्टनरशिप के तहत ग्रीनको आंध्र प्रदेश में सोलर और विंड पार्कों का डिजाइन, निर्माण और ऑपरेट करेगा। इस प्रोजेक्ट को 2024 के मध्य में चालू करने की योजना है। ArcelorMittal, जो इन प्लांट को ओन करती है, ने इस प्रोजेक्ट में लगभग $600 मिलियन (लगभग €543 मिलियन ) का इन्वेस्टमेंट करेगीविंड और सोलर पावर जनरेशन की इंटरमिटेंट-नेचर को कम करने के लिए नई फैसिलिटी को ग्रीनको के पंप-स्टोरेज हाइड्रोपावर प्लांट द्वारा सपोर्ट प्रोवाइड किया जाएगा। यह प्लांट निरंतर और स्टेबल एनर्जी प्रोडक्शन ऑफर करेगा जो किसी भी रिन्यूएबल एनर्जी प्रोजेक्ट के लिए ज़रूरी है।

लॉन्ग-टर्म डील और इसकी इम्पोर्टेंस

ग्रीनको ग्रुप की ArcelorMittal के साथ पार्टनरशिप से बनेगा 975 MW का सोलर कॉम्प्लेक्स
Source: PV Magazine

Arcelor Mittal की लोकल जॉइंट वेंचर कंपनी,आर्सेलर मित्तल निप्पॉन स्टील इंडिया (AM/NS India) इस नए परिसर से 250 मेगावाट कैपेसिटी के लिए 25 साल के ऑफटेक डील पर साइन करेगी। खरीदी गई बिजली जॉइंट वेंचर के हजीरा प्लांट की 20% से ज्यादा बिजली की जरूरतों को पूरा करेगी। ग्रीनको और आर्सेलर मित्तल के बीच पार्टनरशिप भारत में रिन्यूएबल एनर्जी सेक्टर में एक इम्पोर्टेन्ट स्टेप है। यह प्रोजेक्ट न केवल देश की एनर्जी सिक्योरिटी को मजबूत करेगी बल्कि कार्बन-न्यूट्रल पावर मिक्स की डायरेक्शन में भी कंट्रीब्यूशन देगी।

यह भी देखिए: अब Solar के बिज़नेस करने के लिए सरकार और बैंक दोनों करेंगे आपकी मदत

Leave a comment