1kW सोलर सिस्टम पर आप क्या-क्या चला सकते हैं? जानिए

1kW सोलर सिस्टम पर कितने एप्लायंस चला सकते हैं जानिए

आपके घर में 1 किलोवाट सोलर पैनल सिस्टम इंस्टॉल करने की नीड आपकी बिजली की खपत पर निर्भर करती है। अगर आपका घर प्रति माह 800 यूनिट तक बिजली का उपयोग करता है तो 1kW सोलर पैनल सिस्टम आपके लिए सूटेबल हो सकता है। आम तौर पर घरों में टीवी, पंखे और लाइट जैसे बिजली के एप्लायंस का उपयोग किया जाता है जिनका लोड काफी कम होता है। कुछ घरों में वॉशिंग मशीन, रेफ्रिजरेटर, पानी के पंप और गीजर का भी उपयोग किया जाता है जो लोड को बढ़ाते हैं। इस आर्टिक्ल में हम बात करेंगे की 1kW कैपेसिटी के सोलर सिस्टम पर आप क्या क्या चला सकते हैं।

1 किलोवाट सोलर सिस्टम पर लोड कैपेसिटी

1kW सोलर सिस्टम पर आप क्या-क्या चला सकते हैं? जानिए
Source: LA Times

एक 1kW सोलर पैनल सिस्टम पर आप इन एप्लायंस को आसानी से चला सकते हैं। एक लाइट लोड में आप लाइट, पंखे और टीवी जैसे बेसिक एप्लायंस को आसानी से चला सकते हैं। हैवी लोड पर ज्यादा मजबूत इन्वर्टर और बैटरी सिस्टम के साथ आप भारी एप्लायंस को भी मैनेज कर सकते है।

1 किलोवाट सोलर सिस्टम के कॉम्पोनेन्ट

एक लो लोड सिस्टम के लिए आपको 100 वाट के 10 पैनल की ज़रुरत होगी वहीँ 200 वाट के 5 पैनल की ज़रुरत होगी। इस सिस्टम के लिए आपको 24V पैनल को हैंडल करने वाला 1500VA इन्वर्टर या एक GAMMA+ 1000VA इन्वर्टर की नीड होगी। वहीँ बैटरी के लिए आप 150Ah कैपेसिटी की बैटरी कँनेट कर सकते हैं। हैवी लोड वाले सिस्टम के लिए आप 330 वाट के 3 पैनल या 500 वाट के 2 पैनल लगा सकते हैं। इस सिस्टम के लिए आपको 2.5 kW इन्वर्टर या GAMMA+ 1000VA इन्वर्टर की नीड होगी और वहीँ आप 200Ah या 230Ah की बैटरी कनेक्ट कर सकते हैं।

1 किलोवाट सोलर सिस्टम की कॉस्ट

the-best-solar-panel
Source: Blue Sky Electric

आपके द्वारा चुने गए सोलर पैनल के प्रकार के आधार पर कॉस्ट अलग-अलग होती है।

  • बाइफेसियल सोलर पैनल: ₹38,000
  • पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल: ₹28,000
  • मोनो PERC सोलर पैनल: ₹33,000

बजट के हिसाब से पॉलीक्रिस्टलाइन पैनल ज़्यादा किफ़ायती होते हैं जबकि मोनो-PERC पैनल ज़्यादा कीमत पर बेहतर एफिशिएंसी प्रदान करते हैं। बाइफेसियल पैनल सबसे ज़्यादा पावरफुल होते हैं और टीवी, कंप्यूटर, रेफ्रिजरेटर, माइक्रोवेव ओवन और वॉशिंग मशीन सहित सभी घरेलू उपकरणों को चलाने के लिए उपयुक्त होते हैं।

सोलर पैनल सिस्टम कैसे काम करता है ?

सोलर पैनल सिलिकॉन से बने होते हैं जो एक प्रकार का सेमीकंडक्टर है। वे कई फोटोवोल्टिक सेल से बने होते हैं। जब सनलाइट इन सेल से टकराती है तो यह फोटॉन के रूप में एनर्जी के रूप में अब्सॉर्ब हो जाती है। यह एनर्जी सेल के अंदर इलेक्ट्रॉनों को मुक्त करती है जिससे इलेक्ट्रिक करंट बनता है। सोलर पैनल सोलर एनर्जी को इलेक्ट्रिकल एनर्जी में कन्वर्ट करते हैं।

यह भी देखिए: अब सोलर एनर्जी के उपयोग से शुरू करें बिज़नेस और कमाए बढ़िया रकम

1 thought on “1kW सोलर सिस्टम पर आप क्या-क्या चला सकते हैं? जानिए”

Leave a comment