नई ग्रुप नेट मीटर योजना से आप कर सकते हैं अपने बिज़नेस या ऑफिस में बिजली की भारी बचत

नई ग्रुप नेट मीटरिंग योजना

सोलर एनर्जी को बढ़ावा देने के लिए सरकार और बिजली कंपनियां अक्सर नई योजनांएं लेकर आती हैं। इस बार सरकार और बिजली कंपनी ने ग्रीन एनर्जी को बढ़ावा देने के लिए एक नया ऑप्शन पेश किया है। ईस्टर्न रीजन पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी अपने बड़े कंस्यूमर के लिए ग्रुप नेट मीटरिंग की फैसिलिटी दे रही है जो काफी मात्रा में बिजली का इस्तेमाल करते हैं और जिनके पास अलग-अलग जगहों पर कई बिजली कनेक्शन हैं।

ग्रुप नेट मीटरिंग एक ऐसी योजना है जिसके तहत एक जगह पर लगाए गए सोलर प्लांट से पैदा होने वाली बिजली को अलग-अलग कनेक्शन में इस्तेमाल किया जा सकता है। इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए यह जरूरी है कि सोलर प्लांट और बिजली कनेक्शन बिजली डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के जूरिस्डिक्शन एरिया में हो। आइए इसके बारे में और जानते हैं।

योजना के बारे में और जानें

नई ग्रुप नेट मीटरिंग योजना से आप कर सकते हैं काफी बचत अपने बिज़नेस या ऑफिस में, जानिए डिटेल्स
Source: LA Times

आप कंपनी के 21 जिलों में कहीं भी बड़ा सोलर प्लांट लगा सकते हैं और कंपनी के क्षेत्र में कहीं भी इसका लाभ उठा सकते हैं, जिसे ग्रुप नेट मीटरिंग कहते हैं। पहले जब कंस्यूमर सोलर पैनल लगाते थे तो सोलर बिजली का एडजस्टमेंट सिर्फ उसी जगह पर होता था। अब अगर आप सोलर पैनल लगाते हैं और प्रोड्यूस की गई बिजली का कम उपयोग करते हैं तो आप उस बिजली को किसी अन्य यूनिट में एडजस्ट कर सकते हैं।

डोमेस्टिक, इंडस्ट्रियल और कमर्शियल यूनिट्स में सोलर एनर्जी को एडजस्ट किया जा सकता है। सोलर पैनल से प्रोड्यूस की गयी बिजली को ईस्टर्न रीजन पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के जूरिस्डिक्शन एरिया में आने वाले 21 जिलों में एडजस्ट किया जा सकता है। कंस्यूमर सोलर पैनलों का उपयोग करके बिजली का प्रोडक्शन कर सकते हैं और किसी भी सरप्लस बिजली को एक्सपोर्ट किया जा सकता है। इसे नेट मीटर का उपयोग करके मापा जा सकता है और कंस्यूमर को उनके महीने के बिजली के बिल से निर्यात की गई यूनिट को घटाने के बाद बिल भेजा जाएगा।

ग्रुप नेट मीटरिंग के लाभ

how-does-solar-panel-work-in-cloudy-weather
Source: SolaireGen

अगर किसी कंस्यूमर के सोलर पैनल उनकी कंसम्पशन से ज्यादा बिजली का प्रोडक्शन करते हैं तो प्रोड्यूस की गयी सोलर एनर्जी को ग्रुप नेट मीटरिंग के माध्यम से किसी अन्य जगह जैसे कि किसी कमर्शियल एस्टेबिलिशमेंट या इंडस्ट्रियल यूनिट में एडजस्ट किया जा सकता है। यह यूजर को काफी बेनिफिट ऑफर करता है क्योंकि बिजली कंपनी प्रोड्यूस की गयी बिजली को कम दर पर खरीदती है लेकिन इसे यूजर को हाई रेट पर बेचती है। अब बिजली कंपनी ईस्टर्न रीजन पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के जूरिस्डिक्शन एरिया में किसी भी केटेगरी और किसी भी लोकेशन के अंदर सोलर-जनरेटेड इलेक्ट्रिसिटी को एडजस्ट कर सकती है।

रूफटॉप सोलर प्लांट

अधीक्षण मंत्री संजय अरोड़ा ने बताया कि रूफटॉप सोलर प्लांट योजना के तहत किसी भी जगह पर लगाए गए सोलर पैनल से जनरेट की गई बिजली को उस जगह पर उपयोग की जाने वाली बिजली के साथ एडजस्ट किया जाएगा। साथ ही सोलर पैनल से जनरेट की गयी बिजली को ग्रिड के माध्यम से सीधे बिजली कंपनी को बेचने का ऑप्शन भी है। ग्रुप नेट मीटरिंग की सुविधा उन यूजर को मिलेगी जिन्होंने बड़े सोलर प्लांट लगाए हैं और अलग-अलग जगह पर एस्टेबिलिशमेंट हैं। इससे उन्हें योजना का काफी लाभ मिल सकेगा।

यह भी देखिए: अब इस कंपनी का 1kW Solar मिलेगा इतनी सस्ती कीमत पर, जानिए ऑफर व सब्सिडी प्लान

2 thoughts on “नई ग्रुप नेट मीटर योजना से आप कर सकते हैं अपने बिज़नेस या ऑफिस में बिजली की भारी बचत”

Leave a comment